प्लीज कोरोना पर गैर जिम्मेदार मत बनो.., पढिये  प्रेग्नेंट डॉक्टर का आखिरी मैसेज

Advertisement

नई दिल्ली. कोरोना से जंग लड़ते-लड़ते वो आखिरकार हार गई. वो अभी मरना नहीं चाहती थी, इसलिए उसे अपनी साढ़े तीन साल के बेटे और गर्भ में पल रहे अजन्मे बच्चे का दुख मरते दम तक सता रहा था. पर सामने खड़ी मौत के आगोश में समाने के पहले दिल्ली की ये गर्भवती महिला डॉक्टर  अपने ऊपर बीत रहे दुखों को बयां कर लोगों को कोरोना को हल्के में न लेने की सीख देकर विदा हो गई. मौत से पहले बनाए वीडियो में वह कह रही हैं कि कोरोना को हल्के में ना लें, मास्क जरूर लगाएं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें. इस वीडियो के बाद ही दीपिका अरोड़ा चावला नाम की ये डेंटिस्ट कोरोना से जिंदगी की जंग हार गईं. उन्हें 11 अप्रैल को कोरोना हुआ था और 26 अप्रैल को उन्होंने आखिरी सांस ली. दीपिका गर्भवती थी.

डॉ. दीपिका का कोरोना संक्रमित होने के बाद से ही उपचार चल रहा था, लेकिन उसकी तबियत लगातार बिगड़ती ही जा रही थी. वह बीमारी के दौरान पति के साथ अपने साढ़े तीन साल के बेटे को लेकर बेहद चिंतित दिख रही थी. उसको अपने पेट में पल रहे उस अजन्मे बच्चे की फिक्र भी सता रही थी, जिसे लेकर उसने कई सपने देखे थे. लेकिन उसका वह बच्चा भी दुनिया नहीं देख सका जो उनकी कोख में था.

17 अप्रैल को रिकॉर्ड किए गए इस वीडियो में दीपिका लोगों को आगाह कर रही हैं कि कोरोना को हल्के में ना लें, मास्क जरूर लगाएं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें. मैं उम्मीद करती हूं कि ऐसी हालत किसी की भी न हो. खासतौर से प्रेग्रेंसी के दौरान. मैं नहीं चाहती किसी की भी ऐसी कंडीशन हो. प्लीज अपने परिवार को बताइए कि कोरोना को हल्के में न लें. प्लीज गैर जिम्मेदार मत हो. अपने मास्क पहनकर ही बाहर निकलो.

किसी बात करनी है तो मास्क लगाकर ही करें. क्योंकि आपके घर पर भी बुजुर्ग होंगे, बच्चे होंगे. प्रेग्रेंट महिला होगी. उन पर कोरोना का सबसे ज्यादा इम्पैक्ट है. सबसे ज्यादा मैंने इस समय अपनी पूरी जान लगा दी. मैं कभी इस तरह से बैठने वाली नहीं हूं. मैं हमेशा काम करना चाहती हूूूं.हमेशा सीखना चाहती हूं. उनके पति रवीश ने ये वीडियो खुद मदर्स डे पर शेयर किया था. ताकि लोगों तक दीपिका संदेश पहुंच सके. दीपिका नहीं चाहती थीं कि किसी को भी इस दर्द से गुजरना पड़े.

17 अप्रैल को रिकॉर्ड किए गए इस वीडियो में दीपिका लोगों को आगाह कर रही हैं कि कोरोना को हल्के में ना लें, मास्क जरूर लगाएं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें. मैं उम्मीद करती हूं कि ऐसी हालत किसी की भी न हो. खासतौर से प्रेग्रेंसी के दौरान. मैं नहीं चाहती किसी की भी ऐसी कंडीशन हो. प्लीज अपने परिवार को बताइए कि कोरोना को हल्के में न लें. प्लीज गैर जिम्मेदार मत हो. अपने मास्क पहनकर ही बाहर निकलो.