किसान आंदोलन की आड़ में किसानों का एजेंडा-अनिल विज

Advertisement

 

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने किसान आंदोलन पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि अब उन्हें यह आशंका है कि किसान आंदोलन की आड़ में किसानों का एजेंडा कुछ और अब किसानों की लड़ाई में कृषि कानून पीछे छूट चुके हैं। अनिल विज ने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि सरकार और किसानों के बीच बातचीत का दौर लंबे अरसे बंद है। ऐसे में इस मामले का बातचीत से हल निकलवाने के लिए वह खुद केंद्र को पत्र लिख चुके हैं।

विज ने आशंका जताई है कि किसानों का मुख्य एजेंडा अब कृषि कानून न रहकर कुछ और ही है। विज ने कहा कि किसान अभी तक एक बार भी यह नहीं बता पाए हैं कि कृषि कानूनों से आपत्ति क्या है। सरकार बातचीत के लिए तैयार है लेकिन टुकड़ों में बिखरे किसानों का कोई नेता आगे नहीं आ रहा है। जिससे यह लगता है कि इनका एजेंडा कृषि कानून नहीं बल्कि कोई गुप्त एजेंडा है।

: प्राइवेट अस्पतालों में वैक्सीन फ्री न लगाए जाने को लेकर राहुल गांधी के बयान पर पलटवार करते हुए विज ने कहा कि अब राहुल गांधी हर रोज ऐसा प्रश्न निकालकर लाते हैं जिसकी वजह से इनकी पार्टी के लोग इन्हें छोडकऱ जाने लगे हैं। राहुल कांग्रेस के नासमझ नेता हैं। विज ने बताया कि प्राइवेट अस्पतालों की व्यवस्था अलग है जिसे प्राइवेट अस्पतालों में वैक्सीन लगवानी है वो वहां लगवा सकते हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा में 45 प्लस व 18 प्लस की सीमा को समाप्त कर दिया गया है। इस मामले में अब केंद्र सरकार ने वैक्सीन का खर्च ओट लिया है। जिससे हरियाणा को लाभ होगा।